Category: भक्ति सागर 

Home भक्ति सागर 
या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः
Post

या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः

या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः 1. या देवी सर्वभूतेषु शक्ति-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः॥ जो देवी सभी प्राणियों में शक्ति रूप में स्थित हैं, उनको नमस्कार, नमस्कार, बारम्बार नमस्कार है। 2. या देवी सर्वभूतेषु मातृ-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो...

Sankat Mochan Lyrics
Post

हनुमान अष्टक संकट मोचन नाम तिहारों 

हनुमान अष्टक संकट मोचन नाम तिहारों Hanuman Ashtak Sankatmochan Naam Tiharo lyrics in Hindi Sankat Mochan Lyrics भगवन श्रीराम के परम भक्त हनुमान जी की उपासना करने से सारे संकट, दुःख, तकलीफ दूर हो जाते हैं। राम  रावण युद्ध के समय जब मेघनाद के शक्ति प्रहार से श्री लक्षण जी मूर्छित हो गए थे। तब...

hanuman chalisa gyanhans
Post

श्री हनुमान चालीसा

श्री हनुमान चालीसा hanuman chalisa hindi दोहा श्री गुरु चरण सरोज रज,निज मन मुकुर सुधार । बरनौ रघुवर बिमल जसु , जो दायक फल चारि ॥ बुद्धिहीनतनु जानि के , सुमिरौ पवन कुमार । बल बुद्धि विद्या देहु मोहि, हरहु कलेश विकार ॥ hanuman chalisa hindi   चौपाई जय हनुमान ज्ञान गुन सागर । जय...

durga chalisa, gyan hans
Post

श्री दुर्गा चालीसा

श्री दुर्गा चालीसा shri durga chalisa ॐ सर्व मंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके ।  शरण्ये त्र्यम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुते ॥ shri durga chalisa चौपाई नमो नमो दुर्गे सुखकरनी । नमो नमो अम्बे दुःख हरनी ॥ निरंकार है ज्योति तुम्हारी । तिहूं लोक फैली उजियारी ॥ शशि ललाट मुख महाविशाला । नेत्र लाल भुकुटी विकराला ॥ रूप मातु को अधिक सुहावे । दरस...

gyan hans
Post

ज्ञान और भक्ति में अंतर  

ज्ञान और भक्ति में अंतर   ज्ञान एक दीपक की भाँति है और भक्ति एक मणि के सामान हैं। दोनों में ज्योंति है, इसलिए दोनों अँधेरे को दूर करते हैं। परन्तु दीपक को प्रकाश देने के लिए बाती और तेल की आवश्यकता होती है जबकि मणि को प्रकाश देने के लिए किसी भी चीज की आवश्यकता...

error: Content is protected !!