यूपीएस फुल फॉर्म : UPS Full Form

UPS Full Form

यूपीएस फुल फॉर्म : UPS Full Form

UPS का फुल फॉर्म है – Uninterruptible power supply

फुल फॉर्म यूपीएस हिंदी में : UPS Full Form in Hindi

UPS फुल फॉर्म इन हिंदी – यूपीएस का फुल फॉर्म है अनइंटरप्टिबल पावर सप्लाई (Uninterruptible power supply)

यूपीएस क्या है what is UPS

UPS को बैटरी बैकअप के रूप में भी जाना जाता है, बैकअप पावर प्रदान करता है जब आपका नियमित पावर स्रोत विफल हो जाता है या वोल्टेज अस्वीकार्य स्तर तक गिर जाता है। एक UPS कंप्यूटर और उससे जुड़े उपकरणों के सुरक्षित, व्यवस्थित शटडाउन की अनुमति देता है। यूपीएस का आकार और डिजाइन यह निर्धारित करता है कि यह कब तक बिजली की आपूर्ति करेगा।

यूपीएस की परिभाषा 

यूपीएस एक हार्डवेयर डिवाइस है जो पावर आउटेज (blackout), के मामले में बैकअप पावर स्रोत प्रदान करता है।

यूपीएस का क्या अर्थ है? (यूपीएस Meaning in Hindi)

UPS का हिंदी में अर्थ

UPS meaning in Hindi – UPS का अर्थ है – निर्बाध विद्युत आपूर्ति, इसे बैटरी बैकअप के नाम से भी जाना जाता है।

यूपीएस या अनइंटरप्टिबल पावर सप्लाई विद्युत उपकरण है जो मुख्य बिजली आपूर्ति या मेन्स बंद होने पर संवेदनशील उपकरणों को आपातकालीन शक्ति प्रदान करता है।

यूपीएस बिजली की आपूर्ति बंद होने की स्थिति में कुछ समय के लिए बिजली के प्रति संवेदनशील उपकरणों जैसे कंप्यूटर, सर्वर आदि को चालू रखता है, ताकि बारी-बारी से बिजली की आपूर्ति की जा सके या आप अपना काम सेव करके रखा जा सकें, और अपने कंप्यूटर या अन्य उपकरणों को सही ढंग से बंद कर सकें।

यूपीएस में एक बैटरी होती है, जो एक इन्वर्टर के रूप में कार्य करती है, और आपके उपकरणों को कुछ समय तक चलाने की क्षमता रखती है। यूपीएस की समान क्षमता के कारण इसे कभी-कभी अनइंटरप्टिबल पावर सोर्स भी कहा जाता है।

यूपीएस की प्रमुख भूमिकाएं

जब मुख्य बिजली स्रोत में कोई खराबी आती है, तो UPS थोड़े समय के लिए बिजली की आपूर्ति करता है । यह यूपीएस की प्रमुख भूमिका है। इसके अलावा, यह उपयोगिता सेवाओं से संबंधित कुछ सामान्य बिजली समस्याओं को अलग-अलग डिग्री तक ठीक करने में भी सक्षम हो सकता है।

यूपीएस की आवश्यकता

कई ऐसे इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हैं जिन्हें अगर चलाते चलाते अचानक बंद कर दिया जाए तो काफी नुकसान हो सकता है।

इसलिए बिजली की आपूर्ति के लिए ऐसे उपकरण की जरूरत है जो अचानक बिजली के जाने बाद कुछ मिनट का बिजली बैकअप प्रदान कर सके।

कई बार ऐसी स्थिति होती है कि आपने अपने पर्सनल कंप्यूटर पर 5 -6 घंटे की कड़ी मेहनत के साथ एक प्रोजेक्ट तैयार किया है, और अचानक बिजली कट जाने के कारण आपका कंप्यूटर बंद हो जाता है। और आपकी 5 घंटे की मेहनत बेकार जाती है, अगर आपके पास यूपीएस होता, तो बिजली कटौती की स्थिति में आपके पास पर्याप्त समय होता ताकि आप आराम से अपना सेव कर सकें या वैकल्पिक बिजली की आपूर्ति चालू करके अपना काम जारी रख सकें।

कई बार सप्लाई लाइन में कहीं गड़बड़ी हो जाती है, अचानक कुछ मिलीसेकंड के लिए वोल्टेज बहुत ज्यादा नीचे चला जाता है। जिससे आपका कंप्यूटर या टीवी या अन्य संवेदनशील उपकरण बंद हो सकते हैं।

तो यूपीएस ऐसी स्थिति में मददगार होता है और आपके उपकरणों को बंद नहीं होने देता है।

UPS का उपयोग पर्सनल कंप्यूटर के साथ किया जाता है, जो 10 से 15 मिनट तक बिजली कटौती की स्थिति में कंप्यूटर को चालू रखता है। इसके साथ ही यूपीएस का उपयोग पर्सनल कंप्यूटर से लेकर सुपर कंप्यूटर और यहां तक ​​कि बड़े कारखानों में भी किया जाता है।

यूपीएस के महत्वपूर्ण भाग

जैसा कि ऊपर आपने जाना क़ि UPS एक इन्वर्टर की भांति काम करता है, इसके महत्वपूर्ण भाग इस प्रकार हैं-

बैटरी-

यूपीएस को बिजली कटौती की स्थिति में कम्प्यूटर या अन्य डिवाइस को कुछ मिनट का बैकअप प्रदान करने के लिए कम से कम 12 वोल्ट की बैटरी की आवश्यकता होती है। बैटरी की संख्या अपनी जरूरत के हिसाब से बढ़ाई जाती है।

चार्जर-

UPS में एक चार्जर होता है जिसकी मदद से बिजली सप्लाई के समय UPS में लगी बैटरी चार्ज होती है।

इन्वर्टर-

UPS में एक इन्वर्टर होता है, जिसकी मदद से DC करंट को AC में बदला जाता है और हमारे उपकरणों को सप्लाई किया जाता है।

यूपीएस के प्रकार-

UPS मुख्यतः दो प्रकार का होता है ।

ऑफलाइन यूपीएस-

ऑफलाइन यूपीएस लोड को सीधे बिजली प्रदान करता है और बिजली आपूर्ति की कमी के मामले में बैटरी का उपयोग करके बैकअप देना शुरू कर देता है।

इसका transfer time 5 ms है।

ऑनलाइन यूपीएस-

ऑनलाइन UPS इनवर्टर और रेक्टिफायर की मदद से बिजली की आपूर्ति करता है। यह लोड और बैटरी की शक्ति को एक साथ चालू रखता है ताकि मुख्य बिजली कट जाने पर बैटरी से बिजली चालू रहे।

इसका स्थानांतरण समय ओ सेकंड है।

ऑनलाइन यूपीएस की कीमत ऑफलाइन यूपीएस से ज्यादा है।

ऑनलाइन यूपीएस में बहुत अधिक गर्मी उत्पादन होता है।

यूपीएस के अप्लीकेशन – Application of UPS-

व्यक्तिगत उपकरणों में-

UPS का इस्तेमाल Personal Equipment जैसे कंप्यूटर, टीवी आदि में किया जाता है।

उद्योगों में-

यूपीएस का उपयोग कई उद्योगों में भी किया जाता है जहां बिजली कटौती के कारण बहुत सारी समस्याएं उत्पन्न होने की संभावना होती है।

चिकित्सा उपकरणों में-

UPS का उपयोग चिकित्सा क्षेत्र में जीवन रक्षक उपकरण जैसे वेंटिलेटर आदि बिजली प्रदान करने के लिए किया जाता है।

दूरसंचार में-

UPS का उपयोग दूरसंचार क्षेत्र में भी बड़े पैमाने पर किया जाता है, UPS का उपयोग इंटरनेट सर्वर चलाने के लिए भी किया जाता है।

इस पोस्ट में आपने यूपीएस फुल फॉर्म : UPS Full Form के बारे में जाना, UPS क्या है, इसके क्या उपयोग हैं, UPS के कितने प्रकार है व् इसके कितने भाग हैं, इत्यादि, आशा है कि आपको यूपीएस फुल फॉर्म : UPS Full Form की यह जानकारी आपको पसंद आयी होगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here