इम्यूनिटी कैसे बढ़ाये How to increase immunity

Home स्वास्थ्य इम्यूनिटी कैसे बढ़ाये How to increase immunity
immunity booster

शरीर की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाये ? स्वस्थ्य शरीर मनुष्य का सबसे कीमती खजाना है। हर मौसम में स्वस्थ्य होना अपने आप में बहुत बड़ी उपलब्धि है। स्वस्थ्य  शरीर में बीमारियों का प्रभाव देर से  होता है, क्योंकि स्वस्थ्य शरीर वाले व्यक्ति की इम्यूनिटी बहुत अच्छी होती है। 

इम्यूनिटी कैसे बढ़ाये How to increase immunity

शरीर की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाये How to increase body immunity

कमजोर इम्यूनिटी वाले लोग आसानी से वायरस का शिकार हो जाते हैं।  ऐसे में शरीर की शरीर की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाये, इसके लिए खान-पान का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। वायरस की चपेट में आने वाले ज्यादातर वहीं लोग हैं जिनका इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर है या जो पहले से ही किसी बीमारी का शिकार रहें हैं जिसकी वजह से उनका इम्युनिटी सिस्टम कमजोर चुका है। 

शरीर की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाये How to increase body immunity

आइए जानते हैं कि कुछ ऐसे फूड के बारे में जो हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करते हैं। 

खट्टे फल– खट्टे फल विटामिन सी से भरपूर होता है।  विटामिन सी हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है और कोल्ड-कफ से लड़ने के लिए शरीर को तैयार करता है। खट्टे फल  संतरे ,अंगूर, कीनू, नींबू, आंवला इत्यादि आते हैं। शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए हमें इन फलों का नियमित सेवन करना चाहिए। संतरे का जूस, कीनू का जूस, नीबू का सरबत बनाकर पी सकते हैं। आंवले का जूस शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के साथ साथ हमारे बालों के लिए भी बहुत लाभकारी होता है। आजकल बाजार में आंवले का पैकिंग जूस मिल जाता है। आंवला हाजमें को दुरुस्त रखने में भी लाभकारी होता है।  

अदरक– अदरक में कई तरह के एंटी वायरल तत्व पाए जाते हैं।  इसलिए अपने खाने-पीने की चीजों में इसे जरूर शामिल करना चाहिए । खाने में स्वाद  बढ़ाने के साथ साथ अदरक हमारी सेहत के लिए बहुत बहुत फायदेमंद है। सौंफ या शहद के साथ इसका सेवन करने से इसके परिणाम ज्यादा बेहतर होंते है।  नियमित अदरक का सेवन करने से हमारा इम्यून सिस्टम अच्छा  रहता है। शर्दियों  में तो बिना अदरक के, चाय का तो मजा ही नहीं आता, चाय का स्वाद बढ़ाने के साथ साथ अदरक हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

तुलसी– तुलसी में इम्यूनिटी सिस्टम को बेहतर बनाने वाले तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं। रोजाना सुबह एक चम्मच तुलसी का रस लेने से हमारा इम्यूनिटी सिस्टम बेहतर होता है। चाय में तुलसी का पत्ता डालने से चाय का स्वाद बढ़ने के साथ साथ वह हमारे शरीर के लिए लाभकारी होती है।  3-4 काली मिर्च और एक चम्मच शहद के साथ इसका सेवन करने से हमारे शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है।

लहसुन– लहसुन में भी कई तरह के एंटी वायरल तत्व पाए जाते हैं। लहसुन की एक दो कच्ची कली भी खा सकते हैं जो शरीर के लिए लाभदायक होती है। लहसुन को स्वाद के लिए भून कर भी खाया खाया जा सकता है।  एक चम्मच शहद के साथ लहसुन का सेवन हमारे शरीर के इम्यूनिटी सिस्टम को बढ़ाने में मदद करता है।   लहसुन खाने से हाई बीपी में भी आराम मिलता है। लहसुन ब्‍लड सर्कुलेशन को कंट्रोल करने में काफी मददगार है। हाई बीपी की समस्‍या से जूझ रहे लोगों को रोजाना लहसुन खाने की सलाह दी जाती है।  

शिमला मिर्च–  शिमला मिर्च में अधिक मात्रा में  विटामिन सी होता है।  इसमें प्रचुर मात्रा में बीटा कैरोटीन भी पाया जाता है , जो हमारे इम्यून सिस्टम बढ़ाने के अलावा, इसमें मौजूद विटामिन सी हमारे त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। शिमला मिर्च शरीर के  मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मददगार है।  इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन हमारी आंखों को भी स्वस्थ्य रखने में मदद करता है।   

पालक– हरी सब्जियों में पालक स्वाद और पोषक तत्वों से भरपूर होती है। पालक में ना सिर्फ विटामिन सी बल्कि कई एंटीऑक्सिडेंट और बीटा कैरोटीन भी होता है जो हमारे शरीर के संक्रमण से लड़ने की क्षमता को बढ़ाता है। पालक का जूस पीना शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। पालक के पोषक तत्वों को बनाए रखने के लिए इसे पूरी तरह पकाना नहीं चाहिए।

हल्दी– हल्दी में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। हल्दी को सबसे सेहतमंद मसाला माना जाता है। हल्दी वाला दूध पीना शरीर के लिए बहुत फायदे मंद होता है।  हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन मांसपेशियों की रक्षा करती है और उसे मजबूत बनाती है। कई बार छोटी मोटी चोट लगने पर, या शरीर के अंगों में दर्द होने पर हल्दी वाला दूध बहुत फायदेमंद होता है।

पपीता– पपीता भी विटामिन सी का अच्छा स्त्रोत हैं।  पपीते में पपेन पाया जाता है जो एक पाचक एंजाइम होता है।  पपीते में पोटेशियम, विटामिन बी और फोलेट की अच्छी मात्रा होती है, जो हमारे पूरे शरीर के लिए फायदेमंद है।पपीते में उच्च मात्रा में फाइबर मौजूद होता है जो कोलेस्ट्रॉल कम करन में सहायक होता है। पपीता शरीर की रोग प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाने में  बहुत कारगर है। 

सौंफ– खाने की चीजों में जायका बढ़ाने वाली सौंफ को भी एंटी-वायरल दवा के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। सौंफ खाने से आंखों की ज्योति भी बेहतर होती है। खाली पेट सौंफ खाने से खून साफ होता है और त्वचा में चमक आती है। महिलाओं के पीरियड्स अनियमित है तो वे सौफ का सेवन कर सकती हैं। नियमित सौंफ का सेवन हमारे शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है। 

योगर्ट– डॉक्टरों का कहना है कि रोजाना योगर्ट खाने से शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है। योगर्ट मांसपेशियों के खिंचाव में भी आराम पहुंचाता है।  योगर्ट वर्कआउट के बाद शरीर को दोगुनी मात्रा में प्रोटीन देता है। दही में 3-4 ग्राम प्रोटीन होता है जबकि उतनी ही मात्रा ग्रीक योगर्ट खाने से 8 से 10 ग्राम प्रोटीन मिल जाता है।

ग्रीन टी– ग्रीन टी एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होती है और यह कोलेस्ट्रोल एवं ब्लड प्रेशर को कम करने में मददगार है। इसमें कैफीन की मात्रा कम होती है।  शरीर को स्वस्थ रखने में ग्रीन टी बहुत कारगर है।  ये शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालती है।  इसके अलावा पाचन क्रिया को भी दुरुस्त रखती है। रोजाना ग्रीन टी पीने से हमारे शरीर की  इम्यूनिटी बढ़ती है 

इसे पढ़ें-

स्वस्थ रहने के टिप्स

हमारे शरीर के लिए कैल्शियम कितना जरूरी है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!