इसे पढ़े 

ओजस ojas

ओजस

ओजस ojas जब किसी व्यक्ति के पास अपने बारे में बहुत बड़ा ओज होता है, तो वह सब कुछ जो दिव्य और दिव्य माना जाता...
कर्म ही पूजा है और कर्तव्य ही ईश्वर है।

कर्म ही पूजा है

कर्म ही पूजा है कर्म ही पूजा है, और यही सत्य है। महाभारत की एक छोटी कहानी के माध्यम से समझते हैं जो इस कहावत...
सदैव स्वयं के साथ प्रतिस्पर्धा करें

सदैव स्वयं के साथ प्रतिस्पर्धा करें

सदैव स्वयं के साथ प्रतिस्पर्धा करें सदैव स्वयं के साथ प्रतिस्पर्धा करें आत्म-पारगमन हमें असीम आनंद देता है। जब हम खुद से आगे निकल जाते हैं,...
जय श्री कृष्णा 

जय श्री कृष्णा 

जय श्री कृष्णा  जय श्री कृष्णा  हम अपने शरीर, मन और बुद्धि को जानते हैं, लेकिन हम अपने आवश्यक स्वयं को नहीं जानते हैं। कृष्ण हमारे...
prem ras

प्रेम रस – महात्मा बुद्ध

प्रेम रस - महात्मा बुद्ध एक बार की बात है महात्मा बुद्ध एक दिन भोजन के लिए एक गरीब लुहार के यहाँ गए । लुहार...
स्वीकृति ही एकमात्र समाधान है

स्वीकृति ही एकमात्र समाधान है।

स्वीकृति ही एकमात्र समाधान है स्वीकृति ही एकमात्र समाधान है 1. यदि आप लोकप्रिय नहीं हैं, तो आप प्रसिद्धि की कामना करते हैं। 2. यदि आप लोकप्रिय...

शब्दों की शक्ति

शब्दों की शक्ति शब्दों की शक्ति शब्द अनमोल हैं, परन्तु इनमें अतुलनीय शक्ति होती है। हम सामन्य जीवन में अक्सर बहुत से शब्द बिना सोचे समझे...