श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के क्या लाभ हैं -e shram card benefits hindi me

Home Business श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के क्या लाभ हैं -e shram card benefits hindi me
e shram card benefits hindi me

श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के क्या लाभ हैं -e shram card benefits hindi me

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए हाल ही में शुरू किए गए श्रम पोर्टल पर करीब 4 करोड़ लोगों ने अपना पंजीकरण कराया है। अब 34 करोड़ और श्रमिकों का पंजीकरण होना है। e shram card benefits hindi me

e shram card benefits hindi me

इस पोर्टल पर पंजीकरण के बाद श्रमिकों को भारत सरकार की सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभ लेने के लिए बार-बार पंजीकरण करने की आवश्यकता नहीं होगी।

श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने के लिए उम्र सीमा –

वैसे तो 16 साल से ऊपर और 60 साल से कम उम्र का कोई भी कार्यकर्ता इस पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा सकता है, लेकिन देखने में आया है कि एक ही परिवार के कई ऐसे लोग पंजीकरण करा रहे हैं, जो कहीं काम नहीं करते.. कॉलेज की छात्राएं और घरेलू महिलाएं भी कतार में लगी हैं।

दरअसल यह योजना उन्हीं कर्मचारियों के लिए है, जो इनकम टैक्स नहीं देते हैं और ईपीएफओ और ईएसआईसी के सदस्य नहीं हैं। बता दें कि देश भर से 38 करोड़ से अधिक असंगठित श्रमिक इस पोर्टल पर पंजीकरण करा सकते हैं। इनमें कृषि श्रमिक, प्रवासी श्रमिक, गिग श्रमिक आदि शामिल हैं। इस पोर्टल के माध्यम से अंतिम पंक्ति में खड़े अंतिम श्रमिक को आने-श्रम कार्ड दिया जाएगा। देश के सभी देशों में ई-श्रम कार्ड का सम्मान किया जाएगा। यानी श्रम कार्ड पाने और सभी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से जुड़ने के लिए http//eshram.gov.in पर पंजीकरण करना आवश्यक है।

श्रम पोर्टल पर रजिस्टर करने के तरीके -रजिस्टर करने के तीन तरीकेनामांकन थ्रू-श्रम पोर्टल http//eshram.gov.in कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से पंजीकरण किया जा सकता है।अनुभागों/उप-जिलों में राज्य सरकार की स्वदेशी सेवाओं के माध्यम से भी पंजीकरण किया जा सकता है। आपको बता दें कि आपके श्रम द्वार पर नामांकन के समय असंगठित कामगार के पास आधार कार्ड, आधार से जुड़ा मोबाइल नंबर और बैंक खाते का विवरण होना चाहिए।

श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के क्या लाभ हैं -e shram card benefits hindi me

नामांकन से क्या होगा लाभपोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने पर रुपये का दुर्घटना बीमा मिलता है। 2 लाख।फिर भी, वह मृत्यु या अंतहीन विकलांगता पर दो लाख रुपये और आंशिक विकलांगता पर एक लाख रुपये के लिए पात्र होगा, यदि पोर्टल पर एक हाथ पंजीकृत है और दुर्घटना होती है।नामांकन पर, श्रमिकों को एक सार्वभौमिक खाता संख्या मिलेगी, जो विशेष रूप से प्रवासी श्रमिकों के लिए सामाजिक सुरक्षा योजनाओं, भाग कार्ड आदि की सुवाह्यता को कम करेगी।

श्रम पोर्टल पर रजिस्टर करने के लिए कुछ बातें ध्यान देने योग्य हैं –

श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने से पहले कुछ प्रभावों को ध्यान में रखना होगा। उदाहरण के लिए, कार्यकर्ता की आयु 16 से अधिक और 60 गुना से कम होनी चाहिए। कर्मचारी आय शुल्क का भुगतान करने वाला नहीं होना चाहिए। इसका मतलब यह है कि अगर कर्मचारी करदाता है, तो भी वह पोर्टल पर पंजीकरण करने का हकदार नहीं है। वहीं, वास्तव में अगर कर्मचारी ईपीएफओ और ईएसआईसी का सदस्य है तो वह पंजीकरण नहीं करा सकता है।

कौन कौन कर सकता है श्रामपोर्टल ओर पंजीकरण –

बता दें कि देश भर से 38 करोड़ से अधिक असंगठित श्रमिक इस गेट पर पंजीकरण करा सकते हैं। इनमें कृषि श्रमिक, प्रवासी श्रमिक, गिग श्रमिक आदि शामिल हैं।

बिज़नेस आइडियाज 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!